हस्तशिल्प

हिमाचल प्रदेश राज्य हस्तशिल्प एवं हथकरघा निगम लिमिटेड (एक एचपी राज्य सरकार की उपक्रम) राज्य के गरीब बुनकरों और कारीगरों के हितों की सहायता और प्रचार के उद्देश्य के साथ वर्ष 1974 में अस्तित्व में आया था। निगम, कारीगरों और बुनकरों के समग्र कल्याण को सुनिश्चित करने के लिए प्रशिक्षण, डिजाइन आदानों, कच्चा माल प्रदान करके, सुस्त शिल्प को पुनर्जीवित करता है और राज्य के बाहर स्थित एम्पोरिया की अपनी श्रृंखला के माध्यम से उन्हें विपणन सुविधाएं प्रदान करता है। बदलते रुझान और वरीयताओं के साथ शीघ्रता से निगम, एनआईएफटी से नियुक्त डिजाइनरों के माध्यम से नए डिजाइन तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ।

निगम, कपड़ा मंत्रालय, सरकार के वित्तीय सहायता के साथ एकीकृत हथकरघा क्लस्टर विकास योजना के तहत मंडी ,कुल्लू जिले(हिमाचल प्रदेश) में एक हथकरघा क्लस्टर विकास योजना चला रही है।